जब फेरे लेने से पहले दुल्हन ने दुल्हे का देखा हाथ, तो...

जब फेरे लेने से पहले दुल्हन ने दुल्हे का देखा हाथ, तो बोली- ‘अब नहीं करनी ये शादी’

0
SHARE
Loading...

अपने देश भारत की बता करें तो यहाँ समाज के लोगों के द्वारा शादी को काफी ज्यादा महत्त्व दिया जाता है। सदियों से चली आ रही परंपरा के मुताबिक़ शादी को जिंदगी का एक अहम और पवित्र रिश्ता का भी दर्जा दिया जाता है। शायद यही वजह है कि लोग शादी से पहले एक बार नही बल्कि हजार बार लड़के हो या लड़की उसकी जांच परख लेते है। इस उम्मीद में कि आने वाले वक़्त में शादी के बाद उन्हें इस रिश्ते की वजह से किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े। पर यह भी कटु सत्य है कि इस दुनिया में कोई व्यक्ति पूर्ण रूप से परफेक्ट नही है।

Loading...

इस दुनिया में हर एक इंसान के अंदर कोई न कमी जरूर है पर उनकी इस कमी की वजह से उन्हें शादी के अहम मौके पर ठुकरा देना भी किसी पाप से कम नही है। हाल में ही एक बेहद ही अजीबोगरीब मामला सामने आया है जहाँ एक महिला ने शादी के अंत समय में दूल्हे का हाथ देखकर शादी करने को ही मना कर डाला। लोगो को इसके पीछे की वजह समझ ही नही आ रही थी पर जब लड़की ने इसके पीछे की वजह का खुलासा किया तो वहाँ मौजूद हर एक व्यक्ति हैरान रह गया।

बेहद ही अजीबोगरीब यह मामला झारखंड के बड़बिल थाना क्षेत्र का है। ऐसा बताया जा रहा है कि आदित्यपुर निवासी अमित की शादी गालूडीह निवासी एक महिला के साथ तय की गयी थी। शादी की पूरी तैयारी हो जाने के बाद लड़के वाले बारात लेकर लड़की के द्वार पहुँचे। लड़की वालों ने भी बड़े ही प्यार से उनका स्वागत भी किया। बाराती हो या शराती हर कोई शादी के जश्न में डूबा हुआ था। पर जब रात के 2 बजे शादी की रस्म के तहत सिंदूर दान की बारी आई तो लड़की की नज़र दूल्हे के हाथ पर पड़ गयी और उसने वहीँ पर शादी करने से साफ़ इंकार कर दिया।

लोगो के मुताबिक ऐसा बताया जा रहा है कि लड़का जब सिंदूर दान करने ही वाला था उसी वक़्त लड़की की नजर उसके कटे हुए ऊँगली के ऊपर पड़ गयी। कटी हुई ऊँगली को देख नयी नवेली दुल्हन बनने जा रही लड़की डर के मारे सहम गयी। लड़की के सहमने के बाद इस शादी को बीच में ही रोकना पड़ा। लगभग 3 घंटे तक इस मुद्दे के ऊपर लड़की और लड़के वालों के बीच बहस चलती रही। दोनों एक दुसरे के ऊपर आरोप प्रत्यारोप लगा रहे थे। लड़के वालों के मुताबिक लड़की के पिता को इस बात की जानकारी पहले ही दे दी गयी थी तो वहीँ लड़की वालों का कहना है कि उन्हें इस संदर्भ में कुछ बताया ही नही गया था। काफी लंबे वक़्त तक चले इस बहस के बाद किसी तरह यह मामला शांत हुआ और लड़की के परिवार वालों ने बदनामी के डर से अंत में शादी करने का फैसला आखिर में ले ही लिए।

Loading...

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY